Friday, September 01, 2006

बीयर कबाब में हिंदी हड्डी

रिवर ने सुझाया और कई ने हाथों हाथ लिया कि दिल्‍ली में एक ब्‍लॉगर मीट हो ( हिंदी में कहें तो ब्‍लॉगिया पंचैट) और कल सब मतलब कई लोग मिल रहे हैं। खर्चा खाना पीना (रिवर का सुझाव है बीयर और बटर चिकन) अपना अपना। बातचीत कविता पर और अपना-आपकी।
स्‍थान कैफे-100, कनॉट प्‍लेस समय - 2-9-2006 , 1 बजे
हिंदी ब्‍लॉग जगत से तो अकेला ही होउंगा जब तक कि आप में से कोई आने का इरादा न बना ले। रिवर के ब्‍लॉग पर कन्‍फर्म करें।

5 comments:

Amit said...

अकेले कैसे होगे भई, हम भी तो होएँगे!! दिल्ली में होने वाली ब्लॉगर मीट का पता हमको आपसे भी पहले चलता है जी!! ;) :P

SHUAIB said...

भाई, हमें भी अपनी खुशियों मे शामिल करलें :)

अनूप शुक्ला said...

हमारी शुभकामनायें।

Amit said...

अरे भई हम तो आ नहीं पाए, हमारे इलाके में सुबह से जबरदस्त बरसात हो रही थी!! आशा है आप लोगों ने बटर चिकन और बीयर का खूब मज़ा लूटा होगा!! :)

masijeevi said...

धन्‍यवाद अनूप

देखा मेरी आशंका सच साबित हुई न अमित

पहुँच पाए न खुशियों में शामिल होने शुएब ही आए। मतलब हिंदी का प्रतिनिधि रहा मैं अकेला। पर अच्‍छा रहा। विस्‍तार मेरी अगली पोस्‍ट में।