Saturday, January 17, 2009

एसओएस: रेमिंग्‍टन के लती मैक पर क्‍या करें

कंप्‍यूटर से दोस्‍ती पुरानी है लेकिन मैक से पहचान भर भी नहीं रही। apple-notebook-6 हाल में काम पड़ा तो खिलौने सा लगा, पर काम की चीज है और खास बात ये है कि काम न करने का विकल्‍प मौजूद नहीं है। गूगल व दोस्‍तों की सहायता से पता चला कि कैसे हिन्‍दी पढ़ी जा सकती है लेकिन लिखी कैसे जाए। इंटरनेशनल की सेटिंग में जाकर उसे लिखने लायक बनाया पर जिस कीबोर्ड के इस्तेमाल की उम्‍मीद करता है वो हमसे होगा नहीं। पंद्रह साल से रेमिंग्‍टन पर काम कर रहे हैं और अब इस उम्र में क्‍या राम राम पढेंगे। तो भइया ये डिस्‍ट्रेस काल है, किसी भले या कम भले मानस को पता हो कि इंडिक, बाराहा, कैफेहिन्‍दी जैसा कोई हिन्‍दी इन्‍पुट का औजार मैक पर काम करता हो जो रेमिंग्‍टन (साथ साथ ट्रांसलिटरेशन का भी आप्‍शन हो तो और भला) में काम करने की सुविधा देता हो जरूर बताएं। इतना सुंदर सा सेब लैपटाप है हम नहीं चाहते कि इसका इस्‍तेमाल सिर्फ बच्‍चों के गेम खेलने में हो।

वैसे खूब सोचने पर भी आलोकजी को छोड़कर कोई हिंदीदॉं याद नहीं आ रहा जो मैक का शौकीन हो इसलिए उन्‍हें भी मेल कर देते हैं। आप कोई राह सुझा सकें तो जरूर बताएं।

10 comments:

Rachna Singh said...

http://anubhavg.wordpress.com/2007/09/22/hindi-font-on-mac/

http://www.10001downloads.com/s/hindi-font-kruti-for-mac.html

http://freelanguage.org/learn-hindi/digital-tools-and-media/software/hindi-educational-software-for-mac-os-x

http://www.proz.com/kudoz/english_to_hindi/electronics_elect_eng/1052174-hindi_on_mac_format_chanakya.html

संजय बेंगाणी said...

हम मैक के प्रसंशक रहे है. मगर उपयोग करने का मौका नहीं मिला. अतः आलोक के आलोक में जाना ही सही है. :)

सेब पाने की बधाई :)

मसिजीवी said...

शुक्रिया रचना
लेकिन लिंक यूनीकोड इनपुट में कीबोर्ड लेआउट की आप्‍शन का इलाज नहीं दे पा रहे। मैक देवनागरी तथा देवनागरी qwerty के बिल्‍टइन आप्‍शन हैं जो इंस्क्रिप्‍ट व फोनेटिक के कुछ बदले रूप हैं पर हम रेमिंग्‍टन वाले ... :(

Rachna Singh said...

http://developer.apple.com/documentation/Carbon/Conceptual/Supporting_Unicode_Input/sui_concepts/chapter_2_section_7.html


http://socrates.berkeley.edu/~pinax/coptic.html


https://collab.itc.virginia.edu/access/wiki/site/c06fa8cf-c49c-4ebc-007f-482de5382105/devenagari%20unicode%20input%20for%20mac%20os%20x.html

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

भाई, मैं तिरेपन का हूँ और पिछले ही साल रेमिंगटन छोड़ इन्स्क्रिप्ट की बोर्ड अपनाया है। दस पन्द्रह दिन खर्च हुए। पर इन्स्क्रिप्ट पर टाइप करने का मजा ही कुछ और है। जरा कोशिश कर के देखें। और हाँ इस का ट्यूटर मुफ्त उपलब्ध है।

Raviratlami said...

ब्राउजर आधारित ऑनलाइन रेमिंगटन टाइपिंग औजार यहाँ हैं -
http://raviratlami.googlepages.com/Remington-Krutidev-Online-Hindi-Easy-Editor.htm

तथा

http://uninagari.com/remington

Udan Tashtari said...

मैक से जरा दूरी ही रही है हमेशा.

amit said...

अपने को तो मैक का इंटरफेस ही पसंद है बस, बाकी कुछ पसंद नहीं है और सेब की हरकतों से चिढ़ है! :)

आपको बधाई तो नहीं देंगे, शुभकामनाएँ अवश्य लीजिए! ;)

डॉ .अनुराग said...

हम तो जी इस मामले में पिछलग्गू है....कोई इस्तेमाल करे तब पता चले

रूपाली मिश्रा said...

ये रेमिंग्‍टन और इंस्क्रिप्‍ट व फोनेटिक क्या बलाएं हैं
मेरे पास मैक है
मै यूज भी करती हूँ हिन्दी भी लिख लेती हूँ पर ये तकनीकी शब्दावली समझ से बाहर है कोई हिन्दी में (अंग्रेजी में भी चलेगा ) समझाए ये सब क्या है