Friday, August 29, 2008

हिन्‍दी को हिन्‍दी-प्रेम की बैसाखियों से आजाद करने के लिए ब्‍लॉगवाणी को वोट दें

tata_nen_logo चिट्ठाचर्चा में अनूपजी ने दिखाया और हमने देखा, अच्‍छी खबर है।पहली चर्चा में वे ब्‍लॉगवाणी को भूल गए थे, उन्‍होंने केवल देबूदा के पॉडभारती के लिए सिफारिश की पर अगली पोस्‍ट में फिर से साफ कर दिया गया है कि ब्‍लॉगवाणी भी इस कतार में है। फिलहाल इसका रैंक 5 है, कल तक 9 था। हम चाहते हैं शाम तक पहला हो जाए।  हिन्‍दी तो बाजार में अपनी पहचान जमा ही रही है पर ये घटना हिन्‍दी ब्‍लॉगिंग की है। टाटा की मुहर और इंटरनेट पर हिन्‍दी उपक्रम की पहचान वाकई अहम बात है। यूँ भी कई दिन से वोटिंग शोटिंग का खेल इधर हुआ नहीं है। तो चलो जुट जाएं हिन्‍दी को शिखर पर देखने के लिए। पूरा तरीका मैथिलीजी ने अपनी पोस्‍ट में साफ कर दिया है। देखें और वोट दें- कम से कम दो वोट तो आप डाल ही सकते हैं- एक टाटा नैन से रजिस्‍टर करके इंटरनेट पर और दूसरा फोन से एसएमएस से।

हमने सोचा था कि इसे दिल का मामला मानकर, जैसा मैथिलीजी ने कहा हिन्‍दी के इस मुकाम तक पहुँचने की तरह देखेंगे और वोट देंगे तथा देने के लिए कहेंगे। पर सोचें ये तो फर्जीवाड़ा हुआ, आखिर हमसे एक ऐसे नए उपक्रम को चुनने का आग्रह है जो दमदार शुरूआती व्‍यावसायिक उपक्रम है और हम दिल के नामपर वोट दे रहे हैं। ठीक है हमें जीजान से पसंद है ब्‍लॉगवाणी, पर तब भी एक बार जॉंचे कि एक उपक्रम के रूप ब्‍लॉगवाणी कितनी संभावनाएं समेटे है। ऐसा इसलिए भी करें कि इस नजरिए से देखने पर आपको और गर्व की अनुभूति होगी। 

हिन्‍दी की चिट्ठाकारी का समुदाय निरंतर बढ़ रहा हे अत: ये विज्ञापन व आय की संभावनाएं लिए है तथा मजेदार बात ये है कि गूगल एडसेंस द्वारा हिन्‍दी ब्‍लॉगों को बेसहारा छोड़ देने को हमारे अपने एग्रीगेटर ने अवसर की तरह लिया लगता है। टाटा नैन के इस सवाल के जबाव में कि वाकी सब तो ठीक पर ये बताओ कि रोकड़ कैसे कमाओगे, सिरिल साफ करते हैं-

How does the business make money?

We plan to introduce a shopping portal in our website and use our 1600 strong blogger network to advertise, bloggers will be given a commission against sales.

:

It has Marathi and Hindi blogging now, but soon it will be available in all the Indian languages, and also in English. The aim is to becoming the number one community for Indian bloggers.

तथा यह भी-

Just want to put in my two words that the blogger-affiliation scheme is not the only way to earn from a website like blogvani. We'll be exploring the full plethora of options including conventional ones like advertising too.

वाकई .. तो इसका मतलब है कि हमें जल्‍द ही ब्‍लॉगवाणी पर लिस्‍ट होने के लिए, ज्‍यादा से ज्‍यादा लिखने के लिए पैसा मिला करेगा। ये बात तो अच्‍छी लागै है। :)) उससे भी अच्छी बात ये कि हिन्‍दी सिर्फ 'हिन्‍दी प्रेम' की बैसाखी पर नहीं अपने पैरों पर चलेगी। हिन्‍दी प्रेम के भरोसे रहने में बुराई ये है कि तब ये कल्‍याण खाते के आसरे हो जाती है तथा इसमें त्‍याग का दर्प भी आ जाता है फिर क्‍या होता है, पुराने ब्लॉगर जानते हैं कि उसका हश्र क्‍या होता है।   इसलिए आपसे अनुरोध है कि हिन्‍दी को बैसाखी से आजाद कर अपने कदमों चलाने के लिए ब्‍लॉगवाणी को वोट दें। यदि आप एक वोट पहले ही हिन्‍दी-प्रेम के नाम पर दे चुके हैं तो एक और दें- इस बार हिन्‍दी की आर्थिक आत्‍मनिर्भरता के लिए।

13 comments:

मैथिली गुप्त said...

धन्यवाद मसिजीवी जी;
दरअसल अनूप जी तो तब लिखते जब उन्हें पता होता. उस समय तक तो हमें भी पता नहीं था कि ब्लागवाणी भी नामांकित हुई है. बहुत पहले प्रणव जी ने ई-मेल की थी कि उन्होंने ब्लागवाणी का नामांकन किया है और फिर नेन की तरफ से कुछ पूछा गया था. बात आयी गयी हो गयी और हम भी भूल गये.

अनूप जी की पोस्ट पढ़कर मै पाडभारती के लिये गया तो हर्षमिश्रित आश्चर्य हुआ कि ब्लागवाणी भी वहां शामिल थी. दरअसल लम्बे समय से अंग्रेजी के बीच हिन्दी को इतना पीछे देखता आ रहा हूं कि....

आज अंग्रेजी के बीच पाडभारती और ब्लागवाणी को देखकर मुझे तो बहुत अच्छा लग रहा है.

अजित वडनेरकर said...

मसिजीवी बंधु,
शुक्रिया इस पोस्ट को पढ़कर और अभी अभी अरुण जी के चैटियाने से इस तथ्य की जानकारी हुई। कल शाम देबशीष जी की ईमेल मिली थी । व्यस्ततावश आजकल किसी एग्रीगेटर पर नहीं आ पा रहे हैं। दोनों ही समाचार प्रसन्न करनेवाले हैं। देबाशीष और मैथिली जी को बधाई...
हम वोट देंगे भी और दिलवाएंगे भी। ...
और हां,
आपने तस्वीर बदल ली इसका शुक्रिया, आपके लिए भी वोट पक्का...:)
बधाई में सिरिल का नाम भूल गए...यूं तो पूरे ब्लागवाणी परिवार को ही बधाई है जिसमें हम भी है:)

महामंत्री-तस्लीम said...

धन्यवाद, मैं भी चला वोट करने।
-जाकिर अली "रजनीश"

Lovely kumari said...

जानकारी का धन्यवाद अभी वोट दे देती हूँ

seema gupta said...

" got information from Arun jee, , i have already voted and committed for many more , wish you all the best"

Regards

PD said...

बहुत बहुत बधाई हमें.. अजी हम भी तो ब्लौगवाणी परिवार के सदस्य हैं तो मुझे भी तो बधाई चाहिये.. :)

neelima sukhija arora said...
This comment has been removed by the author.
neelima sukhija arora said...
This comment has been removed by the author.
neelima sukhija arora said...

ji, abhi abhi vote dekar hi aa rahe hain

Anonymous said...

नारायण! नारायण!

Udan Tashtari said...

देबाशीष और मैथिली जी को बधाई...

-आपके आदेश को टालना संभव नहीं है, अतः दोनों को वोट कर दिया है. और सेवा बतायें. हाजिर हूँ. :)

सजीव सारथी said...

masijeevi ji, yeh ek badi achivement hai, sab sab saath hain

जितेन्द़ भगत said...

i wl vote.thanx